Bank for the blind. Aniruddhas Bank for the blind-Aniruddha foundation

अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड – नेत्रहीन मित्रों के लिए सहायता का हाथ

मानव की नई नई चीजें सीखने की जिज्ञासा कभी भी कम नहीं होगी। आंखें, नाक, कान, स्पर्श इस प्रत्येक माध्यम से मानव हर पल ज्ञान प्राप्त करता रहता है। मगर इन महत्वपूर्ण इंद्रियों में से अगर एक भी इंद्रीय साथ न दे तो अन्य इंद्रियां इस कमी को पूरा करती हैं। नेत्रहीन लोगों के लिए स्पर्श और इसके साथ ही साथ ध्वनि अर्थात आवाज सबसे महत्वपूर्ण कार्य करते हैं। हर व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति से भावनात्मिक बंधन होता ही है और सभी को इसका अहसास भी होता है। इसी अहसास की वजह से लोग एक-दूसरे से मिलने पर हाथ मिलाकर अपनापन जताते हैं। मगर नेत्रहीन लोगों के लिए स्पर्श का अहसास ही सबसे महत्वपूर्ण माध्यम होता है। संपूर्ण विश्व में लगभग पौनेचार करोड़ लोग नेत्रहीन हैं। तो भारत में लगभग डेढ़ करोड़ लोग नेत्रहीन हैं। इनमें से ३० लाख से अधिक छात्र हैं। इन छात्रों को शिक्षा के लिए भी बहुत कष्ट उठाने पडते हैं। भारत में भी नेत्रहीन छात्रों की स्थिति कष्टदाई है। यह बच्चे कष्टों से जूझते तो हैं, परंतु शिक्षा ग्रहण करने हेतु वे हँसते खेलते हुए अपने प्रयास जारी रखते हैं।

‘अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड’ :

इन छात्रों के प्रयासों को प्रेम का ठोस आधार देने हेतु सद्‌गुरु श्रीअनिरुध्द बापू ने ‘अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड’ नामक उपक्रम शुरु किया। इसके अंतर्गत नेत्रहीन छात्रों को स्कूल की किताबें रिकार्ड (सीडी) करके दी जाती हैं। श्री अनिरुध्द उपासना फौंडेशन व अनिरुध्द समर्पण पथक के सौजन्य से यह प्रकल्पना जारी है। समाज में दुर्बल घटकों की सहायता करके उन्हें सक्षम बनाने का कार्य श्री अनिरुध्द उपासना फौंडेशन नामक संस्था शुरु से करती आई है। “सारी सृष्टि सुखमय बनाऊंगा । आनंद से भर दूंगा तीनों लोक॥” यही संकल्प लिए हुए श्री अनिरुद्ध बापू ने इन नेत्रहीनों के जीवन में प्रकाश का स्त्रोत लाया है। सद्गुरुतत्त्व को कोई भी चमत्कार नहीं करना पडता बल्कि, ये सद्गुरुतत्त्व अंधेरे को ही प्रकाश में परिवर्तित कर देते हैं। अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड इसी का एक उदाहरण है ।

इस योजना के अंतरगरत छात्रों के अभ्यासक्रम हेतु सहायता की जाती है। भारत में मुम्बई स्थित उपरोक्त संस्थाओं के माध्यम से यह सेवा की जाती है।

‘अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड’ का कार्यविस्तार :

पिछले १० वर्षों में इस बैंक का नेटवर्क भारत के २६ राज्यों में फैल चुका है। इस बैंक द्वारा १२ भाषाओं में रिकार्डिंग की जाती है। इनमें मराठी, हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, तमिल, कन्नड, बंगाली, मल्यालम्‌, तेलगु, संस्कृत, आदि का समावेश है। भारत के अलावा पाकिस्तान में भी इस सेवा के लाभार्थी हैं। ३० अप्रैल २०१७ तक १६,०१४ सीडीज्‌ वितरित की गई हैं। तथा ४३९ संस्थाएं और २६८ निजी स्तर पर छात्रों ने इस बैंक की सेवा का लाभ उठाया है।

‘अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड’ की कार्यपध्दति :

संस्था के लिए सेवा करनेवाले श्रद्धावान इस बैंक के लिए अपना अनमोल समय प्रदान करते हैं। श्री अनिरुद्धजी द्वारा आरम्भ किए गए कार्यों में शामिल होने की इच्छा बापू के श्रद्धावानों को होती ही है। इसी वजह से भारत के विभिन्न स्थानों से श्रद्धावान इस कार्य में शामिल होते हैं। जो श्रद्धावान अपनी मातृभाषा में निपुण हैं वे इन नेत्रहीन छात्रों के लिए अपनी आवाज में किताबें रिकार्ड करते हैं। इन रिकार्ड की गई किताबों को अच्छी तरह से जाँच की जाती है। इससे छात्रों को मिलनेवाली सीडी स्वरूप किताबों का दर्जा कायम रहता है। इसके अलावा रिकार्ड की गई आवाज के दर्जे की भी जाँच की जाती है। रिकार्डिंग कैसे की जाए, रिकार्डिंग करते समय कैसे बोला जाए इसके बारे में सही मार्गदर्शन किया जाता है। सीडीज्‌ के लिए मांग आने पर ही संबंधित अभ्यासक्रम रिकार्डिंग हेतु लिया जाता है और इसके साथ ही साथ प्रकाशक से भी अनुमति प्राप्त की जाती है। तत्पश्चात सीडीज्‌ रिकार्ड करके लाभार्थियों को भेजी जाती हैं।

अनिरुध्द बापू हमेशा अपने श्रद्धावान मित्रों से कहते हैं कि, जिस समाज में हम रहते हैं उस समाज का हम पर एक ऋण होता है और हम उससे मुकर नहीं सकते। बल्कि समाज के दुर्बल हिस्सों की सहायता करके हम समाज का भी ऋण उतार सकते हैं और इस निष्काम सेवा द्वारा हम भगवान की भी सेवा करते हैं।

‘अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड’ के लाभार्थी :

इस बैंक का लाभ उठानेवालों में –
स्कूली छात्र
कॉलेज
विश्वविद्यालय (ग्रैज्युएशन तक का अभ्यासक्रम)
व्यावसायिक प्रशिक्षण – मोटर रिवाईंडिंग, मसाज, फिजीओ थेरपी, आदि.
बैंकिंग
सरकारी नौकरी की परिक्षाएं
रेलवे
कानून

संपर्क:

अनिरुध्दाज बैंक फॉर दी ब्लाईंड, ५०३, लिंक अपार्टमेंट, ३५वी गल्ली, जूना खार, खार रोड (पश्चिम), मुंबई.
दूरध्वनी क्रमांक: ०२२-२६०५ ४४७४ / २६०५ ७०५४, २६०५ ७०५६
ईमेल: aniruddhazbfb1@gmail.com