प्रार्थना से प्राप्त होनेवाली शक्ति एवं उसके साथ ही होनेवाली सेवा यही सदगुरु श्रीअनिरुद्ध बापू जे भक्तिमय सेवा उपक्रम की बुनियाद हैं। भक्ती एवं समाज के लिए सेवा ये दोनों ही बातें एकत्रित रुप में होनी ही चाहिए और यही हम सभी की सामाजिक जिम्मेदारी है। यही वे हमें अकसर समझाते रहते हैं। इसी तत्वपर आधारीत सदगुरु श्री अनिरुद्ध उपासना फाऊंडेशन की ओर से प्रस्तुत किये जानेवाले विविध उपक्रमों में श्रद्धावान कार्यकर्या अत्यन्त आनंद, उत्साह के साथ सहभागी होते हैं।

सामाजिक हेतु को ध्यान में रखते हुए संस्था ने विविध सेवाओं के उपक्रम शुरु करते हुए अपने कार्य की सीमा और भी अधिक विकसित की है। इनमें जरुरतमंदों का विकास करने के साथ-साथ अंध संस्था हेतु सेवा, पागलों का अस्पताल, अनाथाश्रम से लेकर वैद्यकीय एव पुनर्वसन प्रकल्पों हेतु शिविरों का आयोजन, पर्यावरण पूरक प्रकल्प, स्त्रियों को सक्षम बनाने के साथ-साथ विविध उपक्रमों का भी समावेश है।

संस्था की ओर से चलाये जानेवाले वैविध्यपूर्ण सेवा उपक्रमों की पूरी जानकारी “भक्तीमय सेवा’ नामक इस विभाग में प्राप्त हो सकेगी।